गुरुवार, 28 अप्रैल 2016

Nayee Khabar

गोद लिए ग्राम चैढेरा में डीएम ने लगाई चैपाल, ग्रामीणो से बात कर जानी उनकी समस्या, डीएम ने सचिव से 5 साल के कार्य का ब्यौरा माँगा

शाहजहाँपुर। डीएम विजय किरन आनन्द द्वारा विकास खण्ड भावल खेड़ा के अन्तर्गत गोद लिये गए ग्राम चैढेरा के पंचायत भवन में ग्रामवासियों के साथ चैपाल लगाकर समीक्षा बैठक ली गयी। 


इस मौके पर डीएम ने सैकेट्री से ग्राम में हुये विकास कार्यो की जानकारी लेते हुये कहा कि पिछले 5 वर्ष मे कराये गये विकास कार्यो की तत्काल ब्यौर प्रस्तुत करें। उन्होंने गांवों में संचालित आगनबाड़ी केन्द्र पर हुये कार्यो की भी जानकारी ली। उन्होंने सचिव और प्रधान को निर्देश दिये कि जो आगनबाड़ी केन्द्र व स्कूलों में शौचालय की मरम्मत होना उसे जल्द ही पूरा करवायें। 

बाल विकास परियोजना अधिकारी को निर्देश दिये कि गांव के सभी आगनबाड़ी केन्द्रो पर जाकर चेक करें कि आगनबाड़ी केन्द्र खुलते है या नही, बच्चों को समय से पुष्टाहार एवं टीकाकरण के साथ पढ़ाई हो रही है। उन्होंने कहा कि जो बच्चे कुपोषित है उसे दो माह के अन्दर सामान्य श्रेणी में लायें। प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि बीएचएमडी के दिन सभी बच्चों का बजन व गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण समय से होना चाहिए इसमें कोई भी शिथिलता न बरती जाये। अन्यथा एएनएम, ओएमआईसी के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने अधिशासी को अभियन्ता जल निगम को निर्देश दिये कि गांव के जो हैडपम्प खराब है उसे तत्काल ठीक कराये जो रिवोर लायक वहां रिवोर करायें। व खराब पानी की टंकी को दो दिन के अन्दर ठीक कराने के निर्देश दिये। 


विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि बिजली की आपूर्ति रोस्टर के अनुसार दें। उक्त अवसर पर ग्रामवासियों ने बताया कि राशन वितरण कम हो रहा है इस पर डीएम ने कोटेदार को चेतावनी देते हुये कहा कि सभी को राशन वितरण का 75 प्रतिशत वितरण होना चाहिए। इसके साथ-साथ एडीओ पंचायत और तहसीदार को निर्देश दिये कि गांव में आकर राशन कार्डो की सूची बनाये और कोई पात्र व्यक्ति छूटना नही चाहिए। सूची बनाकर जिला पूर्ति कार्यालय में प्रस्तुत करें मई माह में सूची के अनुसार राशन वितरण किया जायें। उन्होंने लेखपाल को निर्देश दिये कि 10 बजे से लेकर 12 तक गांव में बैठेंगे कही पर ग्राम सभा की जमीन और चकरोड पर कब्जा तो नही है जांच करें। अगर किसी का कब्जा है तो उसे तत्काल कब्जा मुक्त कराये। 

उक्त अवसर पर उन्होंने कहा कि बिरासत के बारे में बताया कि यदि किसी के परिवार के मुखिया की मृत्यु हो जाती है तो उसके स्थान पर परिवार के अन्य किसी सदस्य के नाम बिरासत रजिस्टर में दर्ज करवायें। उन्होंने यह भी बताया कि किसी कृषक की मृत्य यदि दुर्घटना में हो जाती है तो कृषक बीमा योजनान्तगर्त 5 लाख रूपये की बीमा धनराशि दी जाती है। उन्होंने तहसीलदार को निर्देश दिये कि राजस्व विभाग के अन्तगर्त जो भी योजना है उसे लाभार्थियों को पहुचायें। राजस्व विभाग द्वारा जो भी विकास कार्य कराये जा रहे है उन्हें जल्द पूर्ण कराने के निर्देश दिये। गांव के सेकेण्ट्री को निर्देश दिये कि गांव हर रोज साफ-सफाई करवायें।

=============
नई ख़बर की रिपोर्ट

Follow us on Twitter                Like us on Facebook              Please Visit on our Website