सोमवार, 11 अप्रैल 2016

Nayee Khabar

बाबरी मस्जिद मामले में बीच का रास्ता मंजूर नही: जीलानी

फर्रुखाबाद: बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के कन्वीनर वआल इंडिया पर्सनल ला बोर्ड के मेंबर व् एडिशनल एडवोकेट जनरल आफ उत्तर प्रदेश ज़फर याब जीलानी एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने जनपद आये| उन्होंने निरीक्षण भवन में पत्रकार वार्ता में साफ़ कहा की हम बाबरी मस्जिद मामले में किसी भी बीच के रास्ते को नही मानेंगे| सिर्फ माननीय उच्चतम न्यायालय का निर्णय ही मान्य होगा| वहीँ विनय कटियार के बयान की देवबंद मदरसे में आतंकवादी पैदा होते है इस पर कहा की विनय कटियार को इतिहास की जानकारी नहीं है देवबंद मदरसे के संस्थापकों ने तो पाकिस्तान बंटबारे का विरोध किया था|
जफर याब जीलानी ने बाबरी मामले में साफ़ शब्दों में कहा की हम बाबरी मस्जिद मामले में किसी भी पछ का बीच के रास्ता को नही मानेंगे हम सिर्फ उच्च्तम न्यालय के निर्णय को मानेंगे| हाँ इतना है की हम भी चाहते है की इस मामले में की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में जल्द से जल्द होनी चाहिए बीच का रास्ता इस लिए नही मांगे क्योंकि दूसरा पछ इस मामले में सरेंडर की बात कहता है और हम सरेंडर किसी भी सूरत में नही करेंगे| वहीं लोकसभा में क़ानून बनाने की बात पर कहते है की अगर बाबरी मामले में लोक सभा में कोई इस मामले में क़ानून बनता है तो हम उसको उच्च्तम न्यायालय में चुनौती देंगे| वहीं विनय कटियार के बयान की देवबंद मदरसे में आतंकवादी पैदा होते है इस पर उन्होंने कहा की विनय कटियार को इतिहास की जानकारी नही है| देवबंद के मदरसे के संस्थापकों ने तो पाकिस्तान बंटवारे का भी विरोध किया था और वह लोग पाकिस्तान नही गए थे | उन्होंने काला पानी की सज़ा काटी थी| विनय कटियार का कहना साफ़ झूठ है|


नई ख़बर की रिपोर्ट