शनिवार, 23 अप्रैल 2016

Nayee Khabar

भारतीय कॉल सेंटर प्रतिनिधि के लहजे की नकल कर डोनाल्ड ट्रंप ने उड़ाया मजाक

वाशिंगटन: अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव में रिपब्लिकन उम्मीदवार बनने के शीर्ष दावेदार डोनाल्ड ट्रंप ने भारत में एक कॉल सेंटर प्रतिनिधि के अंग्रेजी में बात करने के लहजे की नकल उतारते हुए मजाक उड़ाया। लेकिन साथ ही उन्होंने भारत को एक महान देश बताया और कहा कि वह भारतीय नेताओं से नाराज नहीं हैं।

न्यूयॉर्क के अरबपति ट्रंप ने कहा कि उन्होंने यह पता लगाने के लिए अपनी क्रेडिट कार्ड कंपनी को फोन किया कि क्या वह अमेरिका या विदेशों में अपने ग्राहकों को सेवाएं मुहैया कराती है। उन्होंने डेलावेयर में अपने समर्थकों से कहा, अंदाजा लगाइये, आप भारत के एक व्यक्ति से बात कर रहे हैं। वह काम कैसे करता है?  ट्रंप ने कहा, इसलिए मैंने यह बहाना बना कर फोन किया कि मैं अपने कार्ड के बारे में जानना चाहता हूं। मैंने कहा, आप कहां से हैं।’ इसके बाद उन्होंने कॉल सेंटर के जवाब के बारे में बताते हुए भारतीय प्रतिनिधि के अंग्रेजी बोलने के लहजे की नकल उतारी।

ट्रंप ने जवाब देने वाले व्यक्ति की नकल उतारते हुए कहा, ‘हम भारत से हैं।’ उन्होंने फोन रखने का नाटक करते हुए कहा, ‘ओह अच्छा, शानदार।’ ट्रंप ने कहा, ‘भारत एक महान स्थान है। मैं अन्य नेताओं से निराश नहीं हूं। मैं हमारे नेताओं की मूखर्ता से नाराज हूं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं चीन से नाराज नहीं हूं। मैं जापान से नाराज नहीं हूं। मैं वियतनाम, भारत.. इन सभी देशों से नाराज नहीं हूं।'

ट्रंप ने ‘कुटिल बैंकिंग’’ का जिक्र करते हुए उस पर अपने बयान में भारत को की गई फर्जी कॉल का जिक्र किया। डेलावेयर अमेरिका के बैंकिंग एवं क्रेडिट कार्ड उद्योग का केंद्र है। इस सूची में बैंक ऑफ अमेरिका, सिटीबैंक डेलावेयर, एम एंड टी बैंक और पीएनसी फाइनेंशियल सर्विसेस ग्रुप शमिल हैं। उन्होंने कहा, ‘वे बहुत धन कमा रहे हैं।’

ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा, ‘आप ऐसी नीतियों को अनुमति नहीं दे सकते जो चीन, मेक्सिको, जापान, वियतनाम, भारत को अनुमति देती हैं। आप ऐसी नीतियों की अनुमति नहीं दे सकते जो अमेरिका के कारोबार को छीन रही हैं जैसे कि किसी बच्चे से कैंडी छीनी जा रही हों।’ उन्होंने कहा, विनिर्माण संबंधी नौकरियां छिन रही हैं। हमारी नौकरियां ली जा रही हैं। हम हर मोर्चे पर हार रहे हैं। कुछ भी अच्छा नहीं है। हमारा देश अब जीतने की स्थिति में नहीं है। हमारी नौकरियां छीनी जा रही हैं। फैक्ट्रियां बंद हो रही हैं। हम अब ऐसा नहीं होने देंगे। ट्रंप ने कहा कि उन्होंने डेलावेयर में 378 कंपनियां पंजीकृत कराई हैं। डेलावेयर और कई अन्य राज्यों में 26 अप्रैल को प्राइमरी चुनाव होने हैं। वह चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में अपने अन्य प्राइमरी प्रतिद्वंद्वियों से आगे हैं।

उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में ‘कट्टरपंथी इस्लामवादी’ शब्द का इस्तेमाल नहीं करने को लेकर राष्ट्रपति बराक ओबामा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘‘मैं कुटिल हिलेरी का मुकाबला करना चाहता हूं।’’ ट्रंप ने दोहराया कि ट्रंप बनाम हिलेरी की टक्कर से अमेरिकी चुनाव के इतिहास में सर्वाधिक संख्या में मतदान होगा। ट्रंप ने दक्षिण कैरोलिना की भारतीय अमेरिकी गवर्नर निकी हेली की भी आलोचना की जिन्होंने प्राइमरी के दौरान उन्हें समर्थन नहीं दिया। डेलावेयर में 16 डेलीगेट दांव पर हैं। ट्रंप के पास 845 डेलीगेट, टेड क्रूज के पास 559 और जॉन कैसिच के पास 148 डेलीगेट का समर्थन है।
File Photo
(इस खबर को जेड प्लस न्यूज़ टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)