मंगलवार, 26 अप्रैल 2016

Nayee Khabar

हाई कोर्ट ने कहा BIMS, BUMS, BAMS एलोपैथिक दवाएं लेने की सलाह नहीं दे सकता, लेकिन 1998 मान्यता दे चूका है सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली : दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन की ओर से दायर भारतीय संविधान के अनुच्छेद 226 के तहत वह जनहित याचिका ख़ारिज कर दी जिसमें दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन अन्य बातों के साथ यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश चाहता है कि भारतीय चिकित्सा प्रणाली के चिकित्सकों को एलोपैथिक प्रणाली में अभ्यास करने के लिए भी अधिकृत किया जाए।

जबकि सुप्रीम कोर्ट पहले ही 1998 में एक अध्यादेश पारित कर चूका है की भारतीय चिकित्सा प्रणाली के चिकित्सक एलोपैथिक प्रणाली में अभ्यास कर सकते हैं। 15 अक्टूबर 1998 में टाइम्स ऑफ़ इंडिया में ये खबर प्रकाशित हुई थी
जिसकी कटाई यहाँ मौजूद है। 
अब सवाल ये है की क्या हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट के फैसले से ऊपर अपना फैसला देने का अधिकार रखता है। नई खबर के लिए दिल्ली से आमिर खान की रिपोर्ट