सोमवार, 25 अप्रैल 2016

Nayee Khabar

साधुओं का गुस्सा सातवें आसमान पर

उज्जैन: साधु-संतों के डेरों में चोरी और गाड़ियों में तोड़फोड़ जैसी आपराधिक घटनाओं पर रविवार को साधुओं का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। सिंहस्थ के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र दत्त अखाड़ा क्षेत्र में उन्होंने चक्काजाम कर दिया और पुलिस वालों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा। एसडीएम पर भी हमले की खबर है। वहीं, एक पुलिस अफसर को घेरकर हाथापाई की गई।

घटना के दौरान साधुओं ने तलवार-भाले भी हवा में लहराए। मामला बड़नगर रोड स्थित दत्त अखाड़ा क्षेत्र में सुबह करीब 10.15 बजे का है। जूना अखाड़े से जुड़े संतों के डेरों में शरारती तत्व पिछले तीन दिन से आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। कई चोरियां हो चुकी हैं। तंबुओं के बाहर खड़ी गाड़ियों के कांच भी रात में फोड़ दिए गए। इसके पहले एक साधु की कार पर कथित रूप से गोली भी मारी गई।

इससे रविवार को साधुओं का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने करीब एक घंटे तक चक्काजाम किया। इस दौरान जब पुलिसकर्मी वहां पहुंचे तो साधुओं ने उन्हें भी खरी-खोटी सुनाई। बताया जाता है कि इस दौरान पुलिसकर्मियों ने एक साधु को थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद साधुओं का गुस्सा भड़क गया और उन्होंने पुलिस पर हमला बोल दिया। हालांकि पुलिस मारपीट या पथराव जैसी किसी बात की पुष्टि नहीं कर रही है।

महंत विजय गिरि फौजी बाबा ने शनिवार शाम एक चोर को पकड़वाया। पुलिस उसे ले गई और छोड़ दिया।महंत वासुदेवानंद गिरि के डेरे से कोई 1.50 लाख रुपए से भरी थैली उठा ले गया।

महंत रजनीशानंद गिरि के पंडाल से 2 लाख रुपए से भरा झोला चोरी हो गया। महंत नरेंद्र गिरि जब शाही स्नान करने गए थे तो 3.50 लाख रुपए से भरा झोला कोई उठा ले गया। एक शिविर के पंडाल में किसी ने जलता अखबार डाल दिया। आग बुझाने में वृंदावन के भरत गिरि के हाथ जल गए। महंत विजय गिरि फौजीबाबा के पंडाल में रखी गाड़ी पर किसी ने छर्रे वाली रिवॉल्वर चलाई। इससे कांच तड़क गया। एक गाड़ी के कांच रात को अज्ञात तत्वों ने फोड़ दिए।

सिंहस्थ के दौरान साधु-संतों के शिविरों में चोरियां होने की शिकायतें मिली हैं। इन पर रोकथाम के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।
=============
नई ख़बरकी रिपोर्ट