बुधवार, 20 अप्रैल 2016

Nayee Khabar

अंग्रेजी शिक्षा के नाम अभिभावकों की जेब पर पड़ रहा डाका, कांग्रेस सेवा दल ने कान्वेंट स्कूलो के खिलाफ खोला मोर्चा

शाहजहाँपुर। अंग्रेजी शिक्षा के नाम पर शहर के तमाम कान्वेंट स्कूल बच्चो के अभिभावकों की जेब पर जमकार डाका रहे हैं, महँगी किताबे, स्टेशनरी, कमीशन वाली ड्रेस के अलाव मनमाफिक फीस की वसूली कर रहे हैं। ऐसे कई आरोप लगाते हुए कांग्रेस सेवा दल के शहर अध्यक्ष संजीव गुप्ता के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट में जोरदार प्रदर्शन करते हुए डीएम को ज्ञापन दिया।

डीएम के नाम दिए गया ज्ञापन में कहा गया है कि शहर के रायन इंटरनेशनल स्कूल, तक्षशिला पब्लिक स्कूल, डॉन एंड डोना, आकांक्षा पब्लिक स्कूल, लीड कान्वेंट स्कूल, वीडीएफ कान्वेंट, सेंट विलाल पब्लिक स्कूल, डा. जीएल कनौजिया पब्लिक स्कूल आदि में अंग्रेजी शिक्षा के नाम पर अभिभावकों का जमकर शोषण हो रहा है। इन स्कूलो के प्रबंधक अपनी मनमाफिक फीस तय कर वसूल करते हैं, अपनी कमीशन वाली दुकानों से ड्रेस लेने को मजबूर करते हैं यह ड्रेस बाजारों में 400 रुपये मिलती हैं, मगर इनकी बताई दुकान पर यही ड्रेस 1100 रुपये तक में मिलती है। 


यह स्कूल भारत सरकार द्वारा एनसीआरटी की किताबो न चलाकर अपनी निजी पब्लिकेशन की किताबो को महंगे दामो में बेचकर मोटी कमाई की जा रही है। एक-एक किताब की कीमत 200 से 500 रुपये तक होती है, 12 रुपये में मिलने वाली कॉपी स्कूल के अन्दर 25 रुपये में मिलती है। अपनी मनमर्जी की किताबे, ड्रेस और स्टेशनरी का नाम बेचकर कान्वेंट स्कूल के प्रबंधक मोटी कमाई करते हैं जिसका खामियाजा बच्चो के अभिभावकों को आर्थिक रूप से भुगतना पड़ता है। कांग्रेस सेवा दल ने डीएम से इन स्कूलो की मनमर्जी की जाँच कर इनके भ्रष्टाचार पर लगाम कसने की मांग की और इनपर कड़ी कार्रवाई किये जाने की मांग भी उठाई।

ज्ञापन देने वालो में दौलतराम वर्मा, अतीक अहमद, संजीव मिश्रा, कृष्ण विनोद मिश्रा, फुरकान अहमद कुरैशी, रामसेवक, शमशाद, मो. आसिफ, रामकुमार वर्मा, अती उल्ला अंसारी, मुन्नालाल गुप्ता, शकील अंसारी, राजेश सक्सेना, अंकुर आनंद, नीरज, संतराम आदि मौजूद रहे।


नई ख़बर की रिपोर्ट