गुरुवार, 2 जून 2016

Nayee Khabar

''ऑजणा पटेल (चौधरी) समाज सुधार की और महत्वपुर्ण कदम

राजस्थान के गुङामालानी आँजणा पटेल समाज ने सभी सार्वजनिक क्षेत्र शादी विवाह जमा जागरण सभा समाज की सभा में जो खुलेआम नशीली पदार्थ अफीम डोडा  (अमल) बिङी सिगरेट जर्दा का उपयोग हो रहा था उस पर पुरी तरह रोक लगा दी है यह एक सराहनीय कदम है समाज का विकास में महत्वपुर्ण कदम है पिछले १० सालों से जंगल में आग की तरह तेजी से  मिठा जहर (अमल) फैल रहा है आँजणा पटेल समाज के भाईयों ने  देश-विदेश  में जाकर रात दिन मेहनत कर अपना व समाज को आर्थिक स्थिति  में मजबूत किया यह आँजणा पटेल समाज के लिए बङे गर्व करने की बात है लेकिन चिन्ता अभी यह है कि अमल का मिठा जहर तेजी से देशभर में फैल रहा है आपको देशभर में भी बङी मात्रा में अमलदार मिल जाएगें  आज युवा वर्ग इस नशा की चपेट में आ रहा है कम उम्र में धन व स्वास्थ्य दोनो की बरबादी कर रहें है

अफीम यह नशा बहुत घातक नशा है सभी जानते है लेकिन समाज की सभाओं में खुलेआम मुनवार का चलन के कारण बढावा मिल रहा है अमल के नशा में उम्र का तकाजा भी भुला दिया जाता है युवाओं को बङे बुजुर्गों के साथ अमल की मनवार करना व अमलदार को आप आगे पधारो युवा लोग यहाँ भी शक्कर में पङ जाते है सभा में अमल लेना एक शान समझते है व खुलेआम २५ साल के युवा भी अपने दादा के उम्र के बङे बुजुर्गों को मनवार करने में संकोच नही करतें पटेल समाज कि युवा शक्ति को समाज में व अपनें घर में विकास की जिम्मेदारी की उम्र में नशा पता से दुर रहें इसके लिए प्रयास करना चाहिये

इसके लिए गुङामालानी आँजणा समाज की तरह सभी जगहों पर   पटेल समाज के मुख्या पंचायत में विचार कर आने वाली युवा पिढी को इससे दुर रहे ऐसे उपाय करने चाहिये आज बङी मात्रा में  पटेल समाज के लोग नशा का सेवन कर रहें है वह अपनें स्थिर पर लेवे या छोङे यह उनकें उपर निर्भर करता है क्योंकि यह ऐसा जहर है की जो रेग्युलर सेवन कर रहें है छोङने पर स्वास्थ्य पर बुरा असर पङ सकता है सो सार्वजनिक सभाओं में बंदी करने  पर नये युवा लोग इसके सपेट में नही  आयेंगे व  ऑजणा पटेल समाज नशामुक्त रहें उसकी तरफ महत्वपुर्ण कदम होगा

नई खबर - महेन्द्र भाई पटेल


नई ख़बर की रिपोर्ट