गुरुवार, 23 जून 2016

Nayee Khabar

''विकास अधिकारी के आदेश की खुलेआम अवहेलना, ग्राम सेवक की ग्रामीणों पर तानाशाही

'''एपीओं होने के बावजूद भी अपने पद पर आसीन,,                 नव पदस्थापित ग्राम सेवक को नहीं दे रहा चार्ज।।।

बाड़मेर  23 जुन । पंचायत समिति बायतु के ग्राम झाक में पंचायत प्रसार अधिकारी (ग्राम सेवक) चन्द्र प्रकाश की तानाशाही, ए.पी.ओ होने के बावजूद भी अपने पद, अपनी मनमर्जी, सांठ-गाठ और सरकारी नियमों की अनदेखी कर अभी तक पद पर आसीन। खुले आम ग्रामीणों से टांकों निर्माण कार्य, आवास, बीपीएल सूची में नाम जुड़वाने, मनरेगा कार्य आदि के नाम पर पैसा लेकर फर्जी तरीके से काम करवा रहा है एवं नव पदस्थापित ग्राम सेवक नवलकिशोर को चार्ज न देने के साथ धमकी देते हुये कहता कि मै ग्राम पंचायत का मुख्यालय नहीं छोडुगा और नहीं किसी को मेरे स्थान पर पदस्थापित होने दंुगा। इसी ग्राम सेवक की तानाशाही के चलते ग्राम झाक के ग्रामीणों ने एकजुट होकर बुधवार को बाड़मेर जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा।  

ग्रामीणों द्वारा ज्ञापन में आरोप लगाये गये कि चन्द्रप्रकाश द्वारा एक प्राचीन तालाब जिसका पानी गांव व दूरदराज के लोग व पशु पीते है, उक्त तालाब पर ग्राम सेवक व पदेन सचिव चन्द्र प्रकाश द्वारा निर्धारित नक्शे के अनुरुप नाड़ी के चारों और पक्की दिवार बनाई जाना निर्धारित किया है, जिसका कार्य ग्राम सेवक व पंचायत द्वारा चालु कर दिया गया है। चार दिवारी बनाये जाने से आमजन व मवेशियों के आने-जाने का रास्ता बंद हो गया है, नाड़ी कार्य में ग्रामीणों का झुठा नाम चलाकर उनके घर बेठे हस्ताक्षर करवाकर फर्जी मस्टरोल भरे जा रहे है तथा नाडी कार्य जे.सी.बी एवं टेªक्टरों से करवाया जा रहा है। इनके द्वारा सड़क निर्माण, खेल मेदान समतली करण, नाला निर्माण कार्य, नाडी खुदाई कार्य सहित ऐसे कई कार्य पूर्ण बताये गये जो कार्य हुये ही नहीं है।

अपने पद की धाक जमाते हुये टांका निर्माण, आवास स्वीकृति, बी.पी.एल सूची में नाम जुड़वानें के नाम पर घर-घर जाकर डरा धमाकर व दबाव बनाकर बड़ी रिश्वत की मांग करता है, जो गरीब ग्रामीणों के बस की बात नहीं है। यहां तक मनरेगा कार्यो में नाम फर्जी रुप से चलाकर कई ग्रामीणों की राशि हड़प करने एवं धक्का मुक्की व गाली गलोच करने के मामले गिड़ा थाने में ग्रामीणों द्वारा दर्ज करवाये  गये थे, जो अभी तक विचाराधीन है।
      
वहीं ग्रामीणों को गुमराह कर सड़क निर्माण कार्य में मनरेगा के तहत ग्रामीणों को रोजगार न देकर जेे.सी.बी व टेªक्टरों से कार्य करवाया जा रहा है।

इन्हीं मामलो को लेकर ग्रामीणों द्वारा दिनांक 9 जून 2016 को मुख्यमंत्री, पंचायत मंत्री, जिला कलक्टर, पुलिस महानिरीक्षक जोधपुर ज्ञापन प्रेषित किया गया था जिस पर कार्यवाही करते हुये पंचायत समिति बायतु द्वारा 15 जून 2016 को आदेश क्रमांक 213/16 को चन्द्रप्रकाश को तुरन्त प्रभाव से ग्राम पंचायत झाख से एपीओं कर दिया गया था, एपीओं होने के बावजूद भी अपने पद का मोह नहीं त्याग कर रहा है एवं नव पदस्थापित ग्राम सेवक को पदस्थापित नहीं होने दे रहा है।


=====================
महेन्द्र भाई पटेल- पाली राजस्थान