शनिवार, 11 जून 2016

Nayee Khabar

एमसीडी में भारी भ्रष्टाचार व्याप्त है-मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि एमसीडी में भारी भ्रष्टाचार व्याप्त है और अगर एंटी करप्शन ब्यूरो उनकी सरकार के पास होता तो दिल्ली के 90 फीसदी पार्षद जेल में होते। केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी ने दिल्ली को गटर में तब्दील कर दिया है। केजरीवाल एमसीडी को लेकर दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र को संबोधित कर रहे थे।


केजरीवाल ने नगर निगम को कम फंड देने के मुद्दे पर कहा कि ईस्ट एमसीडी को 2013-2014 में कांग्रेस ने 416 करोड़ रुपये दिए थे। 2014-15 में राष्ट्रपति शासन के दौरान निगम को 441 करोड़ रुपये मिले जबकि हमारी सरकार ने 2015-16 में 702 करोड़ दिए। एमसीडी ने 2013-14 में तो कर्मचारियों को सैलरी दे दी लेकिन हमने इतना ज्यादा पैसा दिया उसके बाद भी उनसे सैलरी नहीं दी जा रही है। कहां गया ये पैसा। सारा पैसा खा गए। इसी तरह नॉर्थ एमसीडी को कांग्रेस से 1041 मिला तो राष्ट्रपति शासन में 848 करोड़ रुपये लेकिन हमने 1206 करोड़ रुपये दिए। पर सारा पैसा भ्रष्टाचार में चला गया।

केजरीवाल ने कहा कि पहली बार हड़ताल होने पर मैं वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिला। मैंने उनसे निगम को पैसा देने को कहा लेकिन वो चुप हो गए। उन्होंने पैसे इसलिए नहीं दिए क्योंकि उन्हें भी पता है कि ये सारा खा जाएंगे। इन्हीं की बीजेपी सरकार को इनपर भरोसा नहीं है। एमसीडी काला कुंआ बन गया है। केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी में इस कदर भ्रष्टाचार व्याप्त है कि एक नक्शा भी बिना पैसे के बनवाकर कोई नहीं दिखा सकता। उन्होंने कहा कि मैं पीएम को चैलेंज करता हूं कि वो एक छज्जा बनवाकर दिखाएं बिना पैसे के।
केजरीवाल ने कहा कि एससीडी के संयुक्त अधिवेशन में आम आदमी पार्टी के दलित पार्षद की पिटाई की गई क्योंकि बीजेपी बर्दाश्त नहीं कर सकती कि कोई दलित या मुसलमान उनके साथ, कंधे से कंधा मिलाकर बैठ जाए। एमसीडी में पार्किंग हो या विज्ञापन हर जगह घोटाला हावी है, इसीलिए कमाई नहीं हो पाती।


=============
नई ख़बर की रिपोर्ट