बुधवार, 29 जून 2016

Nayee Khabar

प्रेम प्रसंग में अंधे बने हत्यारे, हत्या के लिए दी सुपारी

आरोपी हीराराम व मृतक की पत्नि कमला के बिच काफी वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। कमला आरोपी हीराराम के साथ नाता विवाह करना चाहती थी मगर मृतक छोगाराम के जीवित रहते यह कार्य संभव नहीं होने की वजह से मृतक छोगाराम को अपने रास्ते से हटाने के लिए दोनों ने शडयन्त्र रचकर अपने कास्तकार गटूनाथ पुत्र चौथनाथ जाति कालबेलिया निवासी रामा  पुलिस थाना नौसरा जिला जालौर को मृतक छोगाराम की हत्या करने के लिए 30,000/- रूपये की सुपारी दी गई। 

हत्या के लिए तीस हजार की सुपारी लेने के बाद गटूनाथ ने उक्त कार्य को अंजाम देने के लिए अपने सहयोगी जबरनाथ पुत्र मंशीनाथ जाति कालबेलिया निवासी राखी पुलिस थाना समदडी को साथ लेकर घटना रोज दिनांक 23 जून को मृतक छोगाराम की पत्नि कमला को साथ भेजने के संबंध में  मृतक छोगाराम से मोबाईल पर वार्ता कर दोनों अपराधी मोटरसाईकिल लेकर गांव पुख्तारी शाम के समय पहुंचे व मृतक छोगाराम को उसकी पत्नि को साथ भेजने का झांसा देकर अपने साथ मोटरसाईकिल पर बिठाकर सरहद सामुजा में सुनसान जगह पर लेकर आये तथा उक्त दोनों ने मृतक छोगाराम के साथ मारपीट कर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। 

हत्या का राज छिपाने के लिए मृतक के पहनी धोती को गले में डालकर जाल के पेड से बांध दिया। जिस पर उक्त दोनो गटूनाथ व जबरनाथ की संभावित ठिकानों पर तलाशी पड़ताल कर दस्तयाबी की जाकर अन्वेशण पूछताछ किया गया तो हीराराम व कमला के कहने पर घटना को अंजाम देना स्वीकार किया।

आरोपी गटूनाथ पुत्र चौथनाथ जाति कालबेलिया निवासी रामा  पुलिस थाना नौसरा जिला जालौर, जबरनाथ पुत्र मंशीनाथ जाति कालबेलिया निवासी राखी पुलिस थाना समदडी, हीराराम पुत्र चेलाराम जाति पटेल चौधरी निवासी भौरडा

nayeekaar.com