गुरुवार, 23 जून 2016

Nayee Khabar

तीस्ता हमारी सच्ची हीरो है- दिल की बात, कलम से

गुजरात दंगों के बाद जब हमारी क़ौम के बड़े बड़े नेता बिलों में दुबक गए थे तब मोदी के ज़ुल्म की सजा दिलाने के गुजरात से एक आवाज़ उठी जिसने हर मुश्किल हर दबाव के बाद भी गुजरात दंगों में शामिल रहे हर क़ातिल को सजा दिलाने की कोशिश को अंजाम तक पहुँचाया । तीस्ता सीतलवाड़ ने जिस तरह से बेगुनाह और दंगों में लुटे पिटे लोगों की आवाज़ उठा कर पूरी दुनिया का ध्यान इस तरफ खिंचा उसी का नतीजा है की आज कुछ क़ातिलों को सजा हुयी वरना ये दूसरे दंगों के अपराधियों की तरह बिना सजा के छूट गए होते ।

तीस्ता पर लगातार दबाव बनाने के लिए मोदी सरकार ने उन पर राहत के लिए मिले पैसों का घपला करने का आरोप लगाया लेकिन जब उसको सुप्रीम कोर्ट ने बदले की कार्यवाही बता कर  कर दिया तो अब उनके NGO सबरंग का रजिस्ट्रेशन कैंसिल कर दिया है । 

लेकिन जो लोग तीस्ता के मिजाज़ को जानते है उनका कहना है की सरकार चाहे जो कुछ कर ले लेकिन तीस्ता गुजरात दंगों के हर केस के अपराधियों को सजा दिलवा कर रहेगी ।

काश मुल्क के हर सूबे में एक तीस्ता पैदा हो जाये तो इन नेताओ के नापाक हरकते रुक जाएँ और इनके हौसले टूट जाएँ ।

तीस्ता हमारी सच्ची हीरो हैं ।