सोमवार, 18 जुलाई 2016

Nayee Khabar

संसद का मानसून सत्र आज से, 26 दिनों तक चलेगा यह मानसून सत्र

दिल्ली: आज से संसद का मानसून सत्र की शुरूआत हो रही है। यह मानसून सत्र 26 दिनों तक चलेगा और 12 अगस्त को खत्म होगा। जहां सरकार को इस सत्र में जीएसटी सहित कई महत्वपूर्ण बिल के पास होने की संभावना है। तो वहीं दूसरी तरफ विपक्ष ने सरकार को तमाम मुद्दों पर घेरने के लिए रणनीति तैयार की है। ऐसे में संभावना है कि यह सत्र भी कहीं हंगामे की भेंट ना चढ़ जाए।

इस सत्र में सबकी नजरे GST बिल पर रहेगी। इस बिल पर तमाम दलों के हामी भरने के बाद कांग्रेस जरूर बैकफुट पर है। सरकार और पार्टी के बीच 18 फीसदी पर कैप को संविधान संशोधन में रखने पर विवाद है। हालांकि, सूत्रों के मुताबिक, पार्टी ने इस पर लचीला रुख अपनाते हुए इसको अब संविधान संशोधन में रखने की मांग पर नहीं अड़ेगी। सरकार से इसके लिए विकल्प के तौर पर किसी कानूनी सुरक्षा की मांग करेगी और सरकार के जवाब का इंतजार करेगी।

1. अरुणाचल और उत्तराखंड में केंद्र और राज्यपाल की भूमिका के मुद्दे पर सरकार से जबाव मांगेगी। उसको लगता है कि तमाम राजनीतिक दल इस मुद्दे पर उसका साथ देंगे। यहां तक की सरकार की सहयोगी शिवसेना के रुख के बाद तो वो खासी उत्साहित है।

2. देश में बढ़ती महंगाई पर सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेगी। इस मुद्दे पर भी कांग्रेस को अन्य पार्टियों का साथ आसानी से मिल सकता है। इसी मुद्दे पर कांग्रेस ने 20 जुलाई को पार्टी जंतर-मंतर पर बड़ा विरोध-प्रदर्शन की भी तैयारी की है।

3. कश्मीर में बिगड़ते हालत पर भी कांग्रेस सरकार की नीति पर सवाल उठाएगी। कांग्रेस पार्टी इस मसले को भी संसद में उठाएगी और ठीकरा केंद्र और राज्य सरकार पर फोड़ेगी।

4. विदेश नीति पर भी कांग्रेस केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी में है। हाल में कश्मीर पर पाकिस्तान का बड़बोलापन, एनएसजी का मामला और चीन का रवैया, इस सबको मिलाकर सरकार को उसकी विदेश नीति पर घेरेगी।


===========================
नई ख़बर के लिए प्रभात कटियार की रिपोर्ट