रविवार, 14 अगस्त 2016

Nayee Khabar

नगर फर्रूखाबाद में आज गंगा जमुनी की तहजीव में दाग लग गया।

फर्रूखाबाद। नगर फर्रूखाबाद में आज गंगा जमुनी की तहजीव में दाग लग गया। जब छेड़खानी को लेकर अल्पसंख्यक व बहुसंख्यक के बीच हुये बवाल के दौरान दुकानों में तोड़फोड़ पथराव व फायरिंग किये जाने से दहशत फैल गई। 

भयभीत व्यापारियों ने मुख्य बाजार की दुकाने बंद कर दी। अधिकारियों ने अराजकतत्वों को खदेड़कर गुस्साये लोगों को समझाकर शांत किया। तनावपूर्ण स्थिति नियत्रंण में है। विवाद का माहौल उस समय गरमा गया जब कोतवाली में छेड़खानी के विवाद में दोनों पक्षों में सुलह हो रही थी। कोतवाली प्रभारी संजीव सिंह राठौर, फतेहगढ़ कोतवाली के प्रभारी रजनेश कुमार चौहान व मऊदरवाजा थानाध्यक्ष सुनील कुमार यादव फोर्स लेकर पहुंचे।

तभी कोतवाली गेट पर ही पुलिस के सामने फायर कर दिये जाने से बहुसंख्यकों में रोष व्याप्त हो गया। हिन्दू महासभा के प्रदेश सचिव राजेश मिश्रा, नंदी सेना के संयोजक विक्रांत अवस्थी आदि ने सरेआम गुंडागर्दी कर रोष जाहिर करते हुये कोतवाली में जमकर हंगामा मचाया। अखिलेश यादव मुर्दाबाद के नारे लगाये। इसी दौरान गुस्साये लोगों ने कोतवाली गेट के सामने इस्तियाक की दुकान का कोयला उठाकर सड़क पर फेंक दिया तथा पडोस में ही उनके बेटे शकील की जनरल स्टोर की दुकान में तोडफोड कर सामान बाहर फेंक दिया। इससे गुस्साये सुतहट्टी गली के दुकानदारों ने काफी देर तक ईट के टुकडे तथा अद्धे चलाये।

इस दौरान पूर्वी ओर के मकानों की छत से कोतवाली में भी जबरदस्त पथराव किया गया। दोनों तरफ से पथराव होने पर पुलिस कर्मियों में अफरा तफरी मच गई। सूचना मिलते ही नगर मजिस्ट्रेट शिवबहादुर पटेल व सीओ सिटी आलोक कुमार ने घटना की जानकारी की। हिन्दू नेता राजेश मिश्रा व विक्रांत अवस्थी ने अधिकारियों को बताया कि अल्पसंख्यकों ने घर में घुसकर निर्दोष युवक की पिटाई कर तोडफोड की है। वह लोग इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिये कोतवाली में ही तहरीर लिखवा रहे थे। तभी पुलिस पर दबाब बनाने व हम लोगों को धमकाने के लिये शातिर अपराधी आमिर खलीफा के भाई दिलशाद ने कोतवाली के गेट पर ही फायर किया है।

पुलिस की ओर से दिलशाद के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने तथा तुरंत ही गिरफ्तार कर रासुका लगाये जाने की मांग की। सीओ ने घटना के सम्बंध में तहरीर दिये जाने को कहा। सीओ सिटी जल्दबाजी में बिना वर्दी ही पहुंच गये थे। पथराव होने पर वह अकेले ही डंडा लेकर कोतवाली के बाहर निकले और सुतहट्टी मार्ग पर शराब ठेके से काफी दूर तक लोगों को खदेड़ा। इसी दौरान अल्पसंख्यकों ने सीओ को घेरकर उन पर शकील व इस्तियाक की दुकान में तोडफोड कर सामान लूट लिये जाने का आरोप लगाते हुये काफी नाराजगी जाहिर की। व्यापारी नेता शरीफ ने उत्तेजित युवकों को शांत कर सीओ से तोडफोड व लूटपाट करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई किये जाने की मांग की।

उधर गुस्साये लोगों ने घुमना बाजार स्थित व्यापारी नेता इस्लाम चौधरी की मोबाइल शॉप में धावा बोलकर उनके व उनके बेटे जियाउल इस्लाम व शान मोहम्मद के साथ बदसलूकी की। भयभीत व्यापारियों ने अंदर से ही दुकाने बंद कर ली। तभी गुस्साये लोगों ने पथराव कर दुकान को क्षतिग्रस्त किया। इसी दौरान घुमना तिराहे से मित्तुकूंचा के बीच 4-5 फायरों की आबाज सुनकर दहशत व्याप्त हो गई। व्यापारी नेता अरूण प्रकाश तिवारी उर्फ ददुआ व संजीव मिश्रा उर्फ बॉबी ने घुमना तिराहे से मित्तुकूंचा तक हाथ जोडकर गुस्साये लोगों से शांत होने की अपील करते हुये कहा कि आप लोग धैर्य रखे। आप लोगों को न्याय मिलेगा।

गुस्साये लोगों ने ददुआ को बताया कि अभी आमिर खलीफा व उसके साथी फायरिंग करके भाग गये है।
थोडी देर बाद ही अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, स्वाट टीम प्रभारी एमके त्रिपाठी, क्राइमब्रांच प्रभारी डीके शर्मा के साथ पहुंचे। अधिकारियों के साथ ही पुलिस कर्मियों ने हेलमेड लगाकर सुरक्षा वाली वर्दी पहनी। इन अधिकारियों ने सुतहट्टी मार्ग पर देशी शराब के ठेके से आगे तक तथा घुमना बाजार के तिराहे से मित्तुकूंचा तक फ्लैगमार्च किया। इस दौरान पुलिस ने अराजकतत्वों को खदेडकर उत्तेजित लोगों को समझाकर शांत कराने का प्रयास किया। गुस्साये लोगों ने एएसपी व ददुआ के सामने ही अल्पसंख्यकों के लिये अपशब्द कहकर अपनी भडास निकाली। कोतवाली व आसपास क्षेत्र में फायरिंग पथराव व बवाल होने की सूचना से पूरे शहर में सनसनी फैल गई। अफवाहों का बाजार गर्म हो गया। शहर के मुख्य बाजार को बंद कर दिया गया।

थाना मऊदरवाजा के मोहल्ला गढी मुकीम खां भीकमपुरा निवासी गुड्डू की हाईस्कूल में पढ़ने वाली पुत्री शकीला (काल्पनिक नाम) रोज की तरह नगर के मोहल्ला महावीरगंज द्वितीय में कोचिंग संचालक वेदप्रकाश के यहां टयूशन पढ़ने गई थी, तभी उसके साथ छेड़खानी की गई। युवती ने घर जाकर परिजनों को जानकारी दी। तब परिवार के लोग दर्जनों लोगों के साथ मोहल्ला महावीरगंज द्वितीय निवासी संजीव पांडेय के घर गये और उनके बेटे छोटू के साथ मारपीट की। बवाल की जानकारी मिलने पर कोतवाली का दरोगा जांच करने गया। तो छात्रा के परिजनों ने उनके साथ बदसलूकी की।

पुलिस प्रयास करके छोटू व छात्रा को कोतवाली ले गई। इस बात की जानकारी मिलने पर छात्रा के समर्थन में दर्जनों लोगों ने कोतवाली पहुंचकर हंगामा मचाया। हिन्दू नेताओं के पहुंचने पर छात्रा के हमदर्द लोग कोतवाली से बाहर निकल गये। परिजनों ने आरोप लगाया कि छोटू अक्सर छात्रा के साथ छेडखानी करता था। आज जब छात्रा कोचिंग से बाहर निकली तो छोटू ने उसका हाथ पकड लिया। बदनामी व जेल जाने के भय से दोनो पक्ष सुलह करने को तैयार हो गये। तभी माहौल बिगाडने के लिये कोतवाली के गेट पर फायर करके आग में घी डाला गया।


=================================
फर्रुखाबाद से नई खबर संवाददाता प्रभात कटियार।