सोमवार, 19 सितंबर 2016

Nayee Khabar

अब चश्मा छूट जायेगा, काली मिर्च का प्रयोग बढ़ाता है आँखों की रोशनी

काली मिर्च एक ऐसी दिव्य औषधि है जिसके गुणों के बारे में जितना कहा या लिखा जाये कम ही रह जायेगा । काली मिर्च के बहुत से स्वास्थय प्रयोगों से जो भी लाभ हमको मिलते हैं उस खजाने में से हम आपके लिये एक बहुत ही विशिष्ट प्रयोग और दिव्य प्रयोग लाये हैं जो आँखों की रोशनी बढ़ाकर चश्मा उतारने पें परम सफल सिद्ध होता है । तो आइये जानते हैं इस प्रयोग के बारे में । ध्यान रखे कि यह एक दिव्य प्रयोग है और प्राचीन काल में इसका बहुत प्रयोग होता था किंतु आधुनिकता की दौड़ में लोगों ने इसको बिल्कुल ही भुला दिया है ।

यह प्रयोग विशेष रूप से पूर्णिमा की रात ( जिस रात चाँद पूरा निकलता है ) को किया जाता है । तो जिस दिन पूर्णिमा हो उस दिन शाम के समय ये सामान इक्ट्ठा करें :-

1 :- देशी गाय के दूध से बना घी एक किलो
2 :- देशी खाण्ड का बूरा एक किलो
3 :- काली मिर्च 50 ग्राम ( पीसकर पाउडर कर लें )
रात्रि के समय जब चाँद पूरा निकल जाये तो तीनों चीजों को काँच के एक बड़े मर्तबान में बहुत अच्छी तरह से मिलाकर रख दें और उसके मुँह को लोहे की बारीक जाली से बंद करदें ताकि चींटी आदि ना प्रवेश कर सकें । अब इस मर्तबान को चाँद की रोशनी में छत पर ऐसी जगह रख दें जहाँ पर सारी रात चंद्रमा की किरणे उस पर पड़ती रहें । इस तरह सुबह तक रखा रहने दें और सुबह की रोशनी होने से पहले छत पर से उतार लायें । बस आपका दिव्ययोग तैयार है । इस योग को रोज सुबह शाम 10-10 ग्राम की मात्रा में लेकर देशी गाय के गर्म दूध में मिलाकर पूरे महीने पीना चाहिये और अगले महीने पुनः तैयार कर लेना चाहिये । इस तरह लगातार 4-6 महीने के प्रयोग से आपकी आँखों की पुरानी रोशनी लौट आयेगी । आजमाकर जरूर देखना, लाभ ही पाओगे ।

============