सोमवार, 19 सितंबर 2016

Nayee Khabar

रिपोर्ट्स के अनुसार उरी हमले में 17 भारतीय सैनिकों की जान चली गयी, कम से कम 19 जवान इस समय ज़ख़्मी हैं।

उरी में आज एक आतंकवादी हमले में 17 भारतीय सैनिकों की जान चली गयी। पिछले एक दशक में सैनिक ठिकाने पर होने वाला ये सब से बड़ा आतंकी हमला था।रिपोर्ट्स के अनुसार कम से कम 19 जवान इस समय ज़ख़्मी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उरी में होने वाले आतंकवादी हमले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस हमले के दोषी बच नहीं पाएंगे। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, ” हम उरी में होने वाले इस बुज़दिलाना आतंकी हमले की भरपूर निंदा करते हैं। मैं राष्ट्र को आश्वस्त करना चाहता हूँ को कि इस घृणित हमले के पीछे लोगों को सज़ा ज़रूर मिलेगी। ”
उन्होंने आगे कहा, “हम उरी में होने वाले उन सभी शहीद को सलाम करता हूं। राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा को हमेशा याद किया जाएगा। मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूँ। मैंने इस स्थिति पर गृहमंत्री और रक्षामंत्री से बात की है। कीहै। रक्षामंत्री स्थिति का जाएज़ लेने केलिए खुद कश्मीर जाएंगे। ”
इस घटना पर ट्विटर पर केंद्र की भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री मोदी की जैम कर आलोचना शुरू हो गयी है।
लोगों ने लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी द्वारा पाकिस्तान पर दिए गए उत्तेजित बयान के वीडियो शेयर करना शुरू कर दिया हैं जिनमें मोदी ने पकिस्तान को ‘पकिस्तान की भाषा में’ सबक़ सिखाने की बात की थी।
हैशटैग #सैनिकों_हम_शर्मिंदा_हैं बड़ी तेज़ी से ट्विटर पर ट्रेंड हुआ और कुछ ही समय में राष्ट्रिय स्तर पर एक बड़े ट्रेंड के रूप में उभरा।
इस हैशटैग के तहत ट्विटर यूज़र्स ने मोदी और केंद्र सरकार के साथ साथ रक्षामंत्री की भी जैम कर खिंचाई की।
मनोहर पर्रिकर हाल के दिनों में कई विवादों से घिरे रहे हैं। कल उन्होंने अरविन्द केजरीवाल की बीमारी का मज़ाक़ उड़ाते हुए कहा था की डॉक्टरों को उनकी जीभ इसलिए काटनी पड़ी क्योंकि वो उसका इस्तेमाल मोदी की आलोचना करने केलिए करते थे।
कुछ दिनों पहले पर्रिकर ने ये भी माना था कि उन्होंने आमिर के खिलाफ एक मुहीम में हिस्सा लिया था। भाजपा समर्थकों ने आमिर द्वारा असहिष्णुता पर दिए गए बयान के बाद स्नैपडील कंपनी पर आमिर के साथ नाता तोड़ने केलिए ऑनलाइन मुहीम की शुरुआत 
============
नई ख़बर की रिपोर्ट