सोमवार, 5 जून 2017

Nayee Khabar

नहीं मिली एम्बुलेंस, बाइक पर बेटे की कमर से बांध पति ले गया लाश

पूर्णिया.बिहार के पूर्णिया में अस्पताल में महिला की मौत के बाद एम्बुलेंस नहीं मिलने पर शव को बाइक पर बैठा कर ले जाने का मामला सामने आया है। जब शव ले जाने के लिए एम्बुलेंस नहीं मिली तो महिला के बेटे ने एक ऑटो वाले से बात कि उसने 1500 रुपए की मांग की थी। जब रुपयों की व्यवस्था नहीं हो पाई तो महिला के पति ने बाइक चलाने से पहले बेटे की कमर से पत्नी की लाश को बांधा और फिर खुद पीछे पकड़कर बैठ गया। अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले की जांच के लिए एक समिति गठित कर दी है।



मृतक महिला के परिजनों के अनुसार उन्होंने शव ले जाने के लिए एम्बुलेंस के लिए अस्पताल के किसी डॉक्टर से कहा था। उन्होंने किसी अन्य से बात करने कहा। काफी देर तक परेशान होते रहे फिर मजबूरन लाश को 20 किमी दूर घर ले जाने के लिए बाइक का सहारा लिया।

- महिला के पति श्रीनगर गांव निवासी शंकर साह ने बताया कि पत्नी को टीबी, हार्ट और दमा की बीमारी थी। तबीयत खराब होने पर कुछ दिन पहले उसके सदर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

- शुक्रवार की देर रात पत्नी की मौत हो गई। डॉक्टर ने कहा कि शव को लेकर जाओ। नहीं तो और कई मरीजों की तबीयत खराब हो जाएगी।

- जब हमने कहा कि शव ले जाने के लिए गाड़ी की व्यवस्था करा दीजिए, तो इलाज करने वाले डॉक्टर ने कहा कि आगे बात करो।

- परेशान होकर बेटे ने एक ऑटो वाले से बात कि तो उसने 1500 रुपए मांगे। उस समय हमारे पास इतने रुपए नहीं थे। मैंने बेटे से कहा कि बाइक से ही शव को लेकर घर चलों।
सिविल सर्जन ने कहा- मेरे पास नहीं आए थे मरीज के परिजन
- पूर्णिया सदर अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. एमएम वसीम ने कहा कि अस्पताल में एक मरीज की मौत होने की सूचना मिली थी। बाद में पता चला की उसके परिजन शव को बाइक से लेकर घर चले गए।

- मरीज के परिजन एम्बुलेंस के लिए मेरे पास नहीं आए थे। वैसे बीपीएल परिवारों के लिए गाड़ी की सुविधा मुफ्त में है। जांच के लिए एक टीम गठित कर दिया गया है कि कहां पर कम्युनिकेशन गैप हुआ है। जांच में जो भी दोषी होंगे उनपर कार्रवाई की जाएगी।


नई ख़बर की रिपोर्ट